Home देश SGPGI के 37 साल पूरे होने पर  यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ  ने...

SGPGI के 37 साल पूरे होने पर  यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ  ने दी बधाई

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ

SGPGI के 37 साल पूरे होने पर  यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ  ने दी बधाई
लखनऊ, जेएनएन। संजय गांधी पोस्टग्रेजुएट इंस्टीट्यूट (एसजीपीजीआइ) के 37 साल पूरे होने पर उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने बधाई देते हुए कहा,अच्छा करेंगे तो यश मिलेगा और भागेंगे तो अपयश

ये भी पढे –  BECIL – ब्रॉडकास्ट इंजीनियरिंग कंसल्टेंट इंडिया लिमिटेड ने हाल ही में 727 विभिन्न पदो के लिए भर्ती विज्ञापन जारी
साथ ही कहा कि आयुष्मान भारत योजना का लाभ भी गरीब मरीजों को मिलना चाहिए। बिना सिफारिश पर मरीजो को पूरी सुविधाएं उपलब्ध होनी चाहिए।सीएएम ने कहा कि अब तक ऑर्गन, लिवर व हार्ट ट्रान्सप्लांट की सुविधा पीजीआइ मे शुरू हो जानी चाहिए थी। इस दिशा में तेजी से कदम उठाने होंगे वरना हम हम पीछे रह जाएंगे।
सीएम आदित्‍यनाथ एसजीपीजीआइ के 37 वर्ष गौरवशाली बताते हुए कहा कि पीजीआइ की जो साख है, उस पर खरा उतरे। छोटी – छोटी बातो को लेकर अपना काम बाधित नही करे। अच्छा करेंगे तो यश मिलेगा और भागेंगे तो अपयश।

यूपी सीएएम ने ट्वीट किया है जिस मे लिखा है।
“SGPGI के 37 साल पूरे होने पर बधाई। SGPGI और पॉवर ग्रेट कॉर्पोरेशन इंडिया लिमिटेड ने MoU पर हस्ताक्षर किया, 7 करोड़ रुपए की धनराशि SGPGI को प्रदान की जा रही है। इसके लिए पॉवर ग्रेट कॉर्पोरेशन इंडिया लिमिटेड का धन्यवाद”

ये भी पढ़े: Mount Everest New Height: क्या है एवरेस्ट की नई ऊंचाई
सीएम ने आगे कहा एसजीपीजीआइ के 37 वर्ष गौरवशाली रहे हैं। आसपास के राज्य भी इससे उम्मीद रखते हैं। एसजीपीजीआइ का एम्स जैसी मान्यता मांगने की बात को लेकर सीएएम ने कहा ये मुझे बुरा लगता था।क्योंकि एसजीपीजीआइ खुद ही  उससे अच्छा कर सकता है। उतर प्रदेस के रायबरेली और गोरखपुर भी एम्स शुरू हो रहे हैं। पहले 12 मेडिकल कॉलेज थे।अब 30 नये 30 मेडिकल कॉलेज बनाने जा रहे हैं। हम तेजी से काम कर रहे हैं।सभी जिलों के लिए एडवांस लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस जैसी सुविधा प्रदान कर रहे है।

हमने कोरोना की जंग के बारे मे कहा था कि हम ये जंग जीतेंगे और जीत रहे हैं। हमारे प्रयासों की सराहना करने से आज तमाम संस्थाएं  खुद को रोक नही पा रही है। हमारी इस जंग में एक – एक संस्था का योगदान रहा है। कई जगह प्राइवेट मेडिकल कॉलेज को भी कोविड के रूप में निर्मित किया गया।

Exit mobile version