Rajasthan School Reopen जाने क्या होंगे स्टाफ-स्टूडेंट्स के लिए जरूरी नियम

186
Rajasthan School Reopen

Rajasthan School Reopen18 जनवरी से फिर खुलेंगे स्कूल जाने क्या होंगे स्टाफ-स्टूडेंट्स के लिए जरूरी नियम

Rajasthan School Reopen: कोविड-19 की वजह से करीब 1 साल से बंद पड़े राज्य के स्कूल मे फिर से चहल-पहलनजर आने वाली है। 9वीं से 12वीं कक्षा के लिए 18 जनवरी से खोले जाएंगे। 18 जनवरी को फिर से स्कूलो के खोले जाने के राज्य सरकार के इस आदेश के बाद छात्रों और स्कूल संचालकों मे फिर से ख़ुशी देखी गई है।

सरकार ने स्कूल खोलने की गाइडलाइन जारी कर दी है। जिसके मुताबिक सभी स्कूल संचालक पूरी तैयारियों में जुट गए है। स्कूल खोलने के साथ ही सुरक्षा और एहतियात उपायो पर भी ध्यान दिया जा रहा है।

प्रदेश के करीब 30 हजार विद्यालय के 9वीं से 12वीं तक के40 लाख स्टूडेंट फिर से अपनी पढ़ाई को ऑफलाइन कर सकेंगे। 18 जनवरी से इनके लिए स्कूले ओपन की जा रही है। आप की जानकारी के लिये बता दे बीकानेर के 1350 नर्सिंग-1250 मेडिकल स्टूडेंट की क्लास 11 जनवरी चालू होगी। और काेचिंग इंस्टीट्यूट भी 18 जनवरी से शुरू करने का सरकार ने आदेश जारी कर दिया है। लेकिन इसके लिए सरकार द्वारा नए गाइड लाइन जारी की जायेगी।

Rajasthan School Reopen guide line स्टाफ – स्टूडेंट्स के लिए जरुरी नियम

  • स्टूडेंट्स के आगमन और प्रस्थान का समय अलग-अलग रखा जाएगा, ताकि आने और जाने के समय भीड़ नहीं हो।
  • स्टूडेंट्स की उपस्थिति के लिए अभिभावक की सहमति जरूरी। उन्हें बच्चों को स्कूल भेजने के लिए मजबूर नहीं किया जाएगा।
  • स्कूल खुलने से पहले सिटिंग का प्लान नोटिस बोर्ड पर चस्पा किया जाएगा, ताकि विद्यार्थी तय सीट पर ही बैठ सके।
  • यथासंभव स्कूलों में एसी का उपयोग नहीं किया जाए। जरूरत पड़ने पर उसका तापमान 24 से 30 डिग्री सेंटीग्रेड के बीच ही रखा जाए।
  • कोई भी स्टूडेंट अपना पेन, नोटबुक व किताब दूसरों से साझा नहीं करेगा।
  • विद्यार्थी अपने कक्ष में ही भोजन करेंगे और यथासंभव पानी की बोतल खुद लाएंगे।

  • स्टाफ और विद्यार्थियों को मास्क लगाकर रहना होगा। मास्क बिना स्कूल में किसी का भी प्रवेश निषेध होगा।

क्लास रूम व स्कूल के सेनेटाइजेशन से जुड़े जरूरी निर्देश

  • स्कूलों में हर समय अतिरिक्त मास्क, सोडियम हाईपोक्लोराईड घोल, सेनेटाइजर उपलब्ध रहे।

  • स्कूलों को दी जाने वाली कंपोजिट ग्रांट में से 10% राशि स्वच्छता पर खर्च की जाए।
  • स्कूल के फर्नीचर, उपकरण, स्टेशनरी, शौचालय, पानी की टंकियां को सेनेटाइज किया जाए।

  • स्कूल वाहिनी को उपयोग से पहले और बाद सेनेटाइज करना होगा। स्कूल वाहिनी में प्रवेश या स्कूल में प्रवेश के समय थर्मल स्केनिंग की जाए।

“सरकार ने 18 जनवरी से 9वीं से 12वीं कक्षा तक स्कूल खोलने का निर्णय लिया है। स्कूल संचालन के लिए एसओपी तैयार कर दी है। केंद्र सरकार, गृह विभाग और चिकित्सा विभाग की गाइडलाइन्स के आधार पर जल्दी ही स्कूलों का संचालन शुरू कर देंगे।”

-गोविंदसिंह डोटासरा, शिक्षामंत्री