राजगढ़ गैंगवार मामला : दो आईपीएस के नेतृत्व में टीम जयपुर से चूरू रवाना

173

राजगढ़ में गैंगवार; नेहरा गैंग के 6 शूटरों ने ढाणी मौजी में हिस्ट्रीशीटर प्रदीप व साथ में ताश खेल रहे 2 ग्रामीणों की गोली मारकर हत्या की, 1 शूटर की भी मौत

4 की हत्या 3 घायल 2 बाइक पर आए 6 बदमाशों ने प्रदीप को टारगेट कर बरसाई गोलियां, रिटायर्ड टीचर सहित 2 ग्रामीणों की भी मौत, ग्रामीणों से घिरे एक शूटर का शव एक किमी आगे मिला

चूरू/सादुलपुर| हमीरवास थाना क्षेत्र के गांव ढाणी मौजी में शुक्रवार दोपहर 3.20 बजे बाइक पर आए छह बदमाशों ने गांव में एक घर के आगे चबूतरे पर ताश खेल रहे 5 हजार के ईनामी हिस्ट्रीशीटर प्रदीप स्वामी जैतपुरा को टारगेट कर अंधाधुंध फायरिंग कर दी।

प्रदीप सहित एक सेवानिवृत्त शिक्षक और एक ग्रामीण की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दो घायल हो गए। घटनास्थल से एक किमी दूर एक बदमाश का भी शव मिला। यानी कुल 4 लोगों की हत्या की गई है। वहीं, दो किमी दूर एक हमलावर घायल मिला। लारेंस -संपत नेहरा गैंग के बदमाशों ने फायरिंग की।

मारा गया प्रदीप अजय जैतपुरा गैंग का मुख्य सरगना था। तीन साल पहले नेहरा गैंग ने कोर्ट में गोली मारकर अजय की हत्या कर दी थी। तब से प्रदीप ही यह गैंग चला रहा था। इसकी रिपोर्ट प्रदीप ने ही दी थी, वह चश्मदीद गवाह था।

दिसंबर से प्रदीप हत्या के एक मामले में फरार चल रहा था। विरोधी गैंग लगातार उसकी तलाश कर रही थी। पिछले एक माह में करीब चार बार उसके गांव में आने की सूचना थी। शुक्रवार दोपहर बदमाशों ने इस वारदात को अंजाम दे दिया।

दिनदहाड़े हुई इस गैंगवार से गांव में दहशत है। बता दें कि हमीरवास थाने का हिस्ट्रीशीटर प्रदीप स्वामी जैतपुरा शुक्रवार दोपहर गांव ढाणी मौजी में सुल्तान नाई के घर के चबूतरे पर 70 वर्षीय सेवानिवृत्त शिक्षक निहालसिंह सरावग, ग्रामीण 55 वर्षीय ईश्वरसिंह नाई, सेवानिवृत्त अध्यक्ष द्वारकाप्रसाद गोस्वामी के साथ ताश खेल रहा था। तभी बदमाशों ने हमला कर दिया। मौके पर मौजूद द्वारका प्रसाद घायल हैं, बाकी तीनों की मौत हो गई।

फायरिंग कर भाग रहे हमलावरों को गांव के ही संजय पुत्र लालचंद पूनिया ने रोकने की कोशिश की तो उस पर भी फायरिंग कर दी, जिससे वह भी घायल हो गया। उसे हिसार में भर्ती कराया गया है। घायल बदमाश को पहले चूरू लाया गया, जहां से उसे हायर सेंटर रेफर किया गया है।

डीएसपी बृजमोहन असवाल, हमीरवास, राजगढ़ व सिद्धमुख एसएचओ पुलिस जवानों के साथ मौके पर पहुंचे। शाम करीब 6.30 बजे एसपी नारायण टोगस भी कामांडो के साथ मौके पर पहुंचे। इधर, सूचना देने के बाद भी पुलिस के देरी से पहुंचने पर ग्रामीणों ने एसपी के सामने नारेबाजी की। गिरफ्तारी की मांग को लेकर शव उठाने से इनकार कर दिया।

दो आईपीएस के नेतृत्व में टीम जयपुर से चूरू रवाना
डीजीपी एमएल लाठर ने एसओजी से डीआईजी रणधीर सिंह और एसपी राजेश सिंह के नेतृत्व में एक दर्जन अधिकारी व पुलिसकर्मियों की विशेष टीम मौके पर भेजी। डीजीपी लाठर ने आसपास के जिलों की पुलिस को अलर्ट कर दिया। अतिरिक्त जाब्ता भी भेजा।

पंजाब के लारेंस विश्नोई गैंग से जुड़ा है संपत
संपत नेहरा, पंजाब के गैंगस्टर लारेंस विश्नोई गैंग का सदस्य है। शेखावाटी में अजय जैतपुरा और संपत के बीच लंबे समय से रंजिश है। राजगढ़ में सादुलपुर कोर्ट परिसर में पेशी पर आए गैंगस्टर अजय की 17 जनवरी 2018 को अंधाधुंध फायरिंग कर हत्या कर दी गई थी।
बदमाश ने खुद को गोली मारी या साथियों ने मारा?
घटनास्थल से करीब एक किमी दूर एक बदमाश मृत मिला। उसके गोली लगी हुई थी। उसकी मौत हुई पुलिस इसकी जांच कर रही है। लेकिन अंदेशा है कि ग्रामीणों से घिर जाने के बाद उसने खुद को गोली मार ली।

वहीं ग्रामीणों का कहना है कि भागने में असफल रहा तो साथी बदमाशों ने ही उसे गोली मार दी ताकि वह कोई राज न उगल सके। वहीं भागीरथ नायक नाम का एक बदमाश वहां से करीब दो किमी आगे घायल मिला। अंदेशा है कि यह ग्रामीणों के हत्थे चढ़ गया था।
उपनेता प्रतिपक्ष राठौड़ ने कहा- प्रदेश में लॉ एडं ऑर्डर बेहद खराब

प्रदेश में लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति बेहद खराब है। अपराधी सरेआम वारदात कर रहे हैं। भ्रष्टाचार-रिश्वतखोरी पर भी लगाम नहीं। जनता त्रस्त है। सरकार गंभीर कदम उठाए। – राजेंद्र राठौड़, उपनेता प्रतिपक्ष

 इस तरह की घटनाएं राज्य के इंटेलीजेंस की विफलता भी दर्शाती हैं। इस घटना ने पुन: साबित कर दिया कि प्रदेश में लचर कानून व्यवस्था के कारण जंगलराज कायम है। – हनुमान बेनीवाल, सांसद, नागौर